Khatu Shyam Ji का श्याम जल है अमृत की तरह चमत्कारी

जो भक्त Khatu Shyam Ji जाते है और बाबा के दिवाने हैं। पर उनमे से कुछ भक्तों को आज भी नही पता कि खाटू का श्याम जल क्या हैं। और इसकी क्या महिमा हैं। खाटू श्याम जी का ये श्याम जल कैसे प्राप्त हो सकता हैं। और इसे कैसे अपने साथ लेकर आए। यह जानने के लिए इस blog को पुरा पडे़। और जितना हो सके इसको ज्यादा से ज्यादा share अवश्य करें। क्योंकि हो सकता कि आपके एक share से किसी का रूका हुआ काम पुरा हो जाए और उसे भी बाबा की असीम कृपा प्राप्त हो जाए।
जो भक्त खाटू श्याम जी एक बार भी नही गए हैं। उनसे मेरा हाथ जोड कर निवेदन हैं कि एक बार बाबा के दरबार खाटू धाम अवश्य जाकर आए। मैं विश्वास के साथ कह सकता हूँ कि आपकी हर मनोकामना अवश्य पुरी होगी। और साथ मैं श्याम जल भी अवश्य लेकर आए।
जिन भक्तों ने Khatu Shyam Ji का नाम तो सुना है। पर उन्हें नही पता कि खाटू श्याम कौन हैं। और वहाँ कैसे जा सकते हैं। तो वो भक्त मेरा पहले वाला blog अवश्य पढे.। खाली नही लौटता कोई खाटू श्याम से….. इसका Link नीचे दिया हुआ हैं।
तो चलिए दोस्तों start करते हैं। ‘खाटू का श्याम जल किसी अमृत से कम नही’

 क्या हैं श्याम जल की महीमा

 जैसे :- श्याम बाबा को हारे का सहारा कहा जाता है।
तोरण द्वार को वकुंड का द्वार कहा जाता हैं।
वैसे ही :- श्याम जल को अमृत कहा जाता हैं।
और श्याम जल को अमृत कहा ही नही जाता बल्कि ये सच में अमृत ही है। इसे नियमित अपनाने से भक्त तर ही जाता है। चाहे उसे बड़े से बड़ा संकट ही क्यूँ ना हो। बस बात विश्वास की है।
ये बात मैं अपने personal experience के साथ कह सकता हूँ. जो भी श्याम भक्त खाटू जी के श्याम जल को सच्चे मन से और पुरे विश्वास के साथ अपने घर लेकर आता हैं। और इसको नित नियम के साथ अपनाता हैं। उस भक्त को चाहे कोई भी पीड़ा हो, कष्ट हो, आर्थिक परेशानी हो, चाहे बड़ी से बड़ी बिमारी ही क्यूं ना हो वो सब दूर हो जाती हैं। बस आपको इसे पुरे विश्वास के साथ अपनाना पड़ता है।

 क्या होता हैं Khatu Shyam Ji का श्याम जल

‘श्याम जल’ जिस जल से श्याम बाबा को हर अमावस को स्नान करवाया जाता हैं। उस जल को श्याम जल कहा जाता हैं। इस जल की एक-एक बूंद श्याम बाबा के मुखड़े को छू कर निकलती हैं। इस श्याम जल में बाबा के पावन चंदन का भी मिश्रण होता हैं। जिस बाबा के दर्शन मात्र से ही मरता हुआ व्यक्ति भी जीवित हो जाता हैं। हारे हुए व्यक्ति को सहारा मिल जाता हैं। सबकी मनोकामना पुरी हो जाती हैं। तो श्याम जल के बारे में तो कहना ही क्या ।
 कैसे अपनाए श्याम जल को:-
 ‘इसे अपनाके तो तुम देखो…
   विश्वास करके तो तुम देखो…
   इसे मस्तक से लगाना तुम..
   नित नियम से अपनाना…
   पीड़ा जितनी भी हो ये दूर भगाते हैं।
   खाटू का श्याम जल 
   अमृत कहलाता हैं।’
श्याम जल को नियमित रूप से अपनाना चाहिए। इसे पुरे विश्वास के साथ अपनाना चाहिए। सबसे पहले श्याम जल को मस्तक से लगाकर ही  पीना चाहिए। श्याम जल पीने से शरीर की सभी बिमारियां दुर हो जाती हैं। चाहे वो कितनी बडी बिमारी ही क्यूँ ना हो। इसके साथ ही साथ श्याम जल का छीटा घर/आँफिस/बिजनेस आदि में देना चाहिए। इससे नगीटिविटी दूर होती हैं। और घर/बिजनेस में बरकत होती हैं। श्याम जल नियमित रूप से अपनाने से मनुष्य तर जाता हैं। इसे नर और नारी दोनों ही अपना सकते हैं।

 श्याम जल कैसे प्राप्त करें :- 

सबसे महत्व पुनः बात यही हैं। कि हम श्याम जल को कैसे प्राप्त कर सकते हैं। श्याम जल को कोई भी भक्ति खाटू श्याम जी से लेकर आ सकता हैं। बस इसके लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा।
श्याम जल बच्चों को नही दिया जाता। क्योंकि बच्चों को ज्यादा समझ नही होती की इसे कैसे रखना हैं। कहाँ नही रखना। श्याम जल लेने के बाद श्याम जल की शुद्धता का विशेष ध्यान रखना होता हैं। इसे हर किसी स्थान पर नही रखा जा सकता। जो व्यक्ति श्याम जल को अपने घर लाने के लिए लेता हैं उसे अपनी शुद्धि का भी ध्यान रखना पड़ता हैं।
Khatu Shyam Ji
 श्याम जल आपको नोर्मल बोतल में नही मिलेगा। इसके लिए आपको कैन्नी वाली बोतल ही लेकर जानी पड़ेगी। ये बोतल आपको आसानी से मार्केट में मिल जाएगी। और खाटू श्याम जी में भी मंदिर के पास किसी भी दुकान में आसानी से मिल जाती हैं। इसके बाद मंदिर में प्रवेश  करना हैं। बाबा के दर्शन के लिए लाईन में लगना पड़ता हैं। लेकिन यहाँ हमे मेन लाईन जो कि बाबा के दरबार की 13 सीढियों से होकर जाती हैं। उससे ना होकर दूसरी लाईन जिसको VIP लाईन भी बोला जाता हैं। उस लाईन में खड़ा होना हैं। खाटू श्याम में VIP लाईन में लगने के लिए किसी भी तरह का कोई भी charge नही देना पड़ता।
VIP लाईन से होते हुए जब आप बाबा के दरबार के पास  पहुंच जाओ तो दरबार से पहले आपको बाबा के सेवक यानि दरबार के पंडित जी खडें मिलते हैं। बस आपको उन्हें कैन्नी वाली बोतल देनी हैं। और उनको श्याम जल देने को कहना हैं। वो आपको श्याम जल दे देगें। अब श्याम जल ले करके  श्याम बाबा के दर्शन करके जा सकते हैं।

विनम्र अनुरोध 

    ऐसे आपको श्याम जल प्राप्त हो जाएगा। जो भी इस blog को पढ़ रहा हैं। वो एक बार श्याम जल अपने घर अवश्य लेकर आए। और इस blog को share करना मत भुलिएगा। अगर इस blog में मेरी तरफ से कुछ भी गलती हो गई हो तो क्षमायाचना करता हूँ. मेरी गलती पर ध्यान ना देकर भावना पर ध्यान दें।
    और ये जानकारी आपको कैसी लगी comment करके बताना मत भुलिएगा। और इससे related कोई भी जानकारी चाहिए तो भी आप comment कर सकते हैं।
      जय श्री श्याम
लेखक :-  सुहांस जैन, हरियाणा 
Spread the love

Leave a Reply